Friday, 21 October 2016

धीरे-धीरे..., Love


चित्र  https://toptrendingtopics.files.wordpress.com/2012/11/loving-couple.jpg से साभार

धीरे-धीरे तू मेरे सांसों में घुल रहा है
धीरे-धीरे मुझे तुमसे प्यार हो रहा है

नाचने लगा है मन-प्राण
जब से मिला है तो संग नैन
हर जगह तू ही ख्याल आने लगा
चाहे वो दिन हो या रैन
न जाने कैसे तू मन का दरवाजा खोल लिया
धीरे-धीरे तू इसमें आता जा रहा है
धीरे-धीरे मुझे तुमसे प्यार हो रहा है...

मुझे इतने समर्पण की आदत नहीं
तू मेरे आगे सर को झुकाया न कर
मैं इतनी खूबसूरत भी नहीं
तू सबसे सुंदर मुझको बताया न कर
हाय, तेरी बातों का असर क्यों मुझ पे होने लगा
धीरे-धीरे अपना ही रूप अब जंचने लगा है
धीरे-धीरे मुझे तुमसे प्यार हो रहा है

तू इतने प्यार और हक से पेश नहीं आ
दिल मेरा धड़कने लगा है
तू अपने सपनों की रानी न बता
तू मेरे सपनों का राजा बनने लगा है
हाय, तेरी इतनी मोहक अदा, कुर्बान हो जाना चाहूं
धीरे-धीरे तू मुझमें छाता जा रहा है
धीरे-धीरे मुझे तुमसे प्यार हो रहा है

न तुने किया वादा न मैंने ही खायी है कसम
फिर भी इंतजार तेरा अब रहने लगा
बार-बार पलटकर देखती हूं रास्ता
तेरे लिए बेकरारी अब होने लगा
हाय, कैसा जोश आए जैसे सिमटे रहूं तेरे बाहों में ही
धीरे-धीरे तू आदत मेरी बनता जा रहा है
धीरे-धीरे मुझे तुमसे प्यार हो रहा है

-कुलीना कुमारी, 19/10/2014

No comments:

Post a Comment

Search here...

Follow by Email

Contact Us

Name

Email *

Message *