Sunday, 18 June 2017

पिता / Father

पिता



मैं बिटिया रानी
मेरे पिता आप हैं
मेरे मन में बसे रहेंगे
इतने महान आप हैं

मेरे जन्मदाता ही नहीं
पालनकर्ता भी आप
मुझको समझने वाले
दुखहर्ता भी आप
कितनी ही यादें हृदय पर अंकित
मुझको संवारे आप है..

दूरियां अपनापन न भूलाए
न भूलाएं संस्कार
जो आपसे मिला है
न भूला पाए वो प्यार
निःस्वारथ ढूंढूं तो आपकी सूरत दिख जाए
सबसे अनमोल आप है..

ये न कहिये दुनियावाले
हमें मां-बाप से प्यार नहीं
हम जीना चाहे उनके लिए
रखिये कम ऐतवार नहीं
कितने जख्म छुपाए रखूं सीने में
कि खुश मां-बाप है..


-कुलीना कुमारी, 18-6-2017

बेटियों के तरफ से पिता को समर्पित...

No comments:

Post a Comment

Search here...

Follow by Email

Contact Us

Name

Email *

Message *