Saturday, 22 October 2016

देवता, Importance of love

मेरे प्यार की नगरिया के तुम देवता हो
अपने प्यार से मेहकाते तुम रहना
भटकने लगूं तो दिशा तुम दिखाना
गिरने लगूं तो मुझे तुम सम्हालना




नजारा कोई भी हो
मुझे तू दिखता है
तेरे प्यार की तरंगे
सजीव मुझे बनाता है
मेरे रंगों में उमंगों में
सजता है तू ही
मुझसे प्यार निभाते तुम रहना...

मुझको यकीं है, तू कहीं भी होगा
मेरी याद आती होगी
सच्चा प्यार खाली न जाय
तेरे दिल में धड़कती मैं होऊंगी
तुम्हें मेरी कसम
अपने दिल से न निकलना
मुझसे प्यार जताते तुम रहना...

केाई भी खबर, खुशी का ही पल हो
तेरे बगैर अधूरी सी लगूं
तुम मेरी मंजिल, तुमसे ही पूर्णता
तेरे लिए प्यासी सी लगूं
मुझे प्यार करते रहना
अपना बनाते रहना
खुद से अलग न समझना

कभी यूं मुश्किल आ जाए, बेचैन हो जाए
बहकने लगता है कदम
जैसे होश में हम न हो, टूटने लगती आशाएं
छूटने लगता है दम
तुम ऐसे में साथ मेरा देना
मुझमें अपना बल भरना
मुझको अकेला न छोड़ना..

-कुलीना कुमारी, 22-10-2016

No comments:

Post a Comment

Search here...

Follow by Email

Contact Us

Name

Email *

Message *