Sunday, 22 January 2017

याद है, Remember


Image : Curtesy by https://images.template.net/wp-content/uploads/2015/04/18232934/Pairing-Love-Drawing.jpg

वो अपना साथ याद है
मुलाकात याद है
दिवाना बने थे आप
अपनी भड़की जज्बात याद है

भूले न भुलाए वो नजराना
चोरी-चोरी नजरें मिलाना
हाय कितनी कातिल हंसी थी
आपका वो अपनापन जताना
तड़पकर पता बताना याद है
भूलना नहीं, फरियाद करना याद है...

दिल के गिरह यूं खुलते गये
आप उसमें घुसते गये
अधिकार आप देते ही रहे
हम उसमें खोते गये
अपना दिले बेकरार याद है
आपका अजब वो इकरार याद है...

मैं सोचूं
समझ जाय आप
मुझसे प्यार जताकर बताया
नहीं है ये पाप
अपना दिले लगाव याद है
आपका प्यार बेहिसाब याद है...

वक्त बदलता गया
हम नहीं बदले
मैं आना न छोड़ी
आप मिलना न भूले
वो कसमें, वफा की बात याद है
आपसे महके मेरे दिन-रात है...

-कुलीना कुमारी, 22-1-2017

No comments:

Post a Comment

Search here...

Follow by Email

Contact Us

Name

Email *

Message *